पश्चिमी क्षेत्र के BSP प्रत्याशी प्रधानी के भी हैं मास्टर क़ायम रज़ा

चार बार चलाया गांव की सरकार

गांव वालों को याद है, साथ बैठकर करते हैं भोजन


ए अहमद सौदागर


लखनऊ।  विधानसभा चुनाव का प्रचार दिन-प्रतिदिन तेजी पकड़ रहा है। राजनितिक पार्टियां हों या निर्दलीय प्रत्याशी सभी ने डोर टू डोर प्रचार में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। खास बात यह है कि कोई भले कुछ कहे, लेकिन कड़वा सच यही है कि कुछ ऐसे प्रत्याशी मैदान में हैं, जिनके दामन अपराध से अछूते नहीं हैंॽ  लेकिन कुछ ऐसे भी प्रत्याशी हैं जिनका नाता अपराध से बहुत दूर है। उदाहरण के तौर पर गौर करें तो  पैतृक गांव चिनहट के चंदिया मऊ के रहने वाले 56 वर्षीय  बसपा के प्रत्याशी कायम रज़ा ख़ान से जुड़ी अनगिनत यादें हैं। विधायकी चुनाव से पहले रज़ा ने चार बार गांव की सरकार चला चुके हैं।

ग्राम प्रधान रहते हुए इन्होंने लोगों से सुख-दुख का साझा किया। उन दिनों क़ायम रज़ा ख़ान पैदल और साइकिल से चलकर क्षेत्रीय लोगों से संपर्क कर वोट मांगा और चार बार जीत हासिल कर प्रधान बने थे। कायम रज़ा ने अपनी सादगी से कभी भी लोगों को अहसास नहीं होने दिया कि खुद को धनवान हूं, लिहाजा अब भी उनके गांव के लोग उनकी बड़ाई करते नहीं थकते। गांव की चौपाल और मोटी रोटी से प्रेम रखने वाले क़ायम रज़ा ख़ान का देहाती प्रेम हर दिन बढ़ता गया और आज शहरी क्षेत्र से बसपा प्रत्याशी बन गए।

बसपा प्रत्याशी कायम रज़ा ने किया नामांकन

पश्चिमी विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे क़ायम रज़ा ख़ान के गांव के रहने वाले कुछ लोगों से सवाल किया गया तो वे बेबाक बोल पड़े कि क़ायम के बारे में मत पूछिए वे इंसान के रूप में मानों वह एक देवता की तरह हैं, जो किसी को भी परेशान होते देख उसके घर की दहलीज पर पहुंचकर दुख-सुख में साझा जरूर करते हैं।

चंदिया मऊ के रहने वाले लोगों की जुबान पर एक ही चर्चा है, कि वे कर्मठ और ईमानदार प्रत्याशी हैं, लिहाजा पश्चिमी क्षेत्र से विधायक जरूर बनेंगे। यही नहीं पश्चिमी विधानसभा क्षेत्र के रहने वाले कुछ लोगों ने बताया कि लॉक डाउन के दौरान किसी का पता नहीं था तब क़ायम रज़ा ख़ान ने घर-घर सम्पर्क कर लोगों के दुख-सुख में साझा किया।

Raj Dharm UP

चुनाव परिणाम के निहितार्थ

डॉ दिलीप अग्निहोत्री सपा के दोनों दिग्गजों के लिए लोकसभा की सदस्यता से त्यागपत्र देना शुभ नहीं रहा। इन्होंने विधान सभा में रहने का निर्णय लिया था। लेकिन इस दांव का प्रतिकूल असर हुआ। विधानसभा में कोई वैचारिक लाभ नहीं मिला।इनके द्वारा छोड़ी गई लोकसभा की दोनों सीटों पर भाजपा का क़ब्ज़ा हो गया। इसने […]

Read More
Raj Dharm UP

राजभवन में भ्रमण का बढ़ा समय

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल आमजन के लिए प्रतिदिन सुबह राजभवन के द्वार खोलने के निर्देश दिए थे। अब उन्होंने राजभवन के खुलने के समय में वृद्धि के आदेश दिए हैं। अब राजभवन के द्वार आमजन के सैर, व्यायाम तथा योगाभ्यास हेतु रोज सुबह 5 से 8 बजे तक तथा सायंकाल 5 से […]

Read More
Raj Dharm UP

उत्तर प्रदेश में नई MSME नीति जल्द 30 जून को होगा बड़े लोन मेले का आयोजन : राकेश सचान

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री राकेश सचान ने कहा कि राज्य सरकार जल्द ही नई MSME नीति लाने जा रही है। जिसमें राज्य में नये उद्योग लगाने वाले निवेशकों को विभिन्न सुविधाएं एवं छूट आदि की व्यवस्था होगी। सचान ने यह जानकारी आज होटल हयात में एसोसियेटेड चौंबर्स आफ कामर्स […]

Read More