Religion

हनुमान जी को क्यों कहते हैं संकटमोचन, किन 10 बाधाओं से बचाते हैं बजरंगबली?

Why is Hanuman ji called Sankat Mochan, from which 10 obstacles does Bajrangbali save? #NayaLookNews

लखनऊ।  हनुमानजी हिन्दू धर्म के सबसे जाग्रत और सर्वशक्तिशाली देवता हैं। जिस पर बजरंगबली की कृपा बरसरना शुरू होती है, उसका कोई बाल भी बांका नहीं कर सकता। दस दिशाओं और चारों युग में उनका प्रताप है। हनुमान की पूजा जीवन से जुड़ी समस्याओं को दूर कर विशेष फल प्रदान करती है। आइए आपको उन 10 समस्याओं के बारे में जिनसे संकटमोचन हमारी रक्षा करते हैं।

    1. भूत-पिशाच से रक्षा भूत पिशाच निकट नहिं आवै, महावीर जब नाम सुनावै॥ ऐसे इसलिए कहा गया है, क्योंकि बजरंगबली इन सबसे हमारी रक्षा करते हैं। भूत-पिशाच जैसी ऊपरी बाधाओं से परेशान व्यक्ति को बजरंगबाण का पाठ करना चाहिए। किसी भी प्रकार का भय है तो रात को सोने के पहले हं हनुमते नमः का 108 बार जाप करें।
    2. शनि और ग्रह बाधा शनि की साढ़ेसाती, ढैया, राहु की महादशा चल रही है या कोई अन्य ग्रह बाधा परेशान कर रही है, हनुमान जी आपके इस संकट को भी दूर कर सकते हैं। मंगलवार को हनुमान मंदिर जाएं। मदिरा और मांसाहार से दूर रहें। शनिवार को सुंदरकांड या हनुमान चालीसा का पाठ करें। शनिवार को हनुमान मंदिर में आटे का दीपक जलाएं।
    3. रोग और शोक से रक्षा किसी रोग से ग्रस्त हैं तो हनुमान बाहुक का पाठ करें। हनुमान बाहुक गोस्वामी तुलसीदास द्वारा रचित स्तोत्र है। हनुमान बाहुक का पाठ करते समय अपने सामने पात्र में जल रखें। पाठ समाप्त होने के बाद उस जल को रोग प्रभावित स्थान पर लगाएं।
    4. कोर्ट-कचहरी से मुक्ति आमतौर पर व्यक्ति पुलिस और कोर्ट-कचहरी के मामलों से बचने की कोशिश करता है, लेकिन कई बार ना चाहते हुए भी व्यक्ति किसी न किसी विवाद में फंस जाता है। चाहे पारिवारिक विवाद हो, संपत्ति को लेकर अपनों से झगड़ा हो या फिर बाहर कोई उलझन। लेकिन इस संकट से हनुमानजी आपकी रक्षा कर सकते हैं।
    5. घटना-दुर्घटना से बचाव घटना-दुर्घटना को राहु-केतु और शनि अंजाम देते हैं। घटना-दुर्घटना से बचने के लिए प्रतिदिन हनुमान चालीसा पढ़ते रहें। कभी कभी सुंदरकांड और बजरंग बाण का पाठ भी करें। हनुमान मंदिर से सिंदूर ले आएं और नित्य प्रातः स्नान करके सिंदूर को कंठ या माथे पर लगाएं।
    6. मंगल दोष बहुत से लोग मंगलदोष के भय से ग्रसित हैं। इस कारण विवाह संबंधी कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। मंगल दोष से परेशान हैं तो मंगलवार के दिन व्रत रखें। हनुमान चालीसा का पाठ करने से मंगल दोष शांत होता है। अगर पुरुष की कुंडली में मंगल दोष है तो सिंदूर से हनुमानजी की पूजा करें। अगर महिला की कुंडली में मंगल दोष है तो हनुमान जी को मंगलवार को लाल फूल चढ़ाएं।
    7. कर्जों से मुक्ति अगर किसी कारणवश आप कर्ज में डूब गए हैं या कर्ज से परेशान हैं तो हनुमान भक्ति से कर्ज से छुटकारा पा सकते हैं। कर्ज से मुक्त होना आसान नहीं लेकिन कठिन भी नहीं है। मंगलवार को हनुमान चालीसा का पाठ करें। हनुमान मंदिर में नारियल रखना अच्छा माना जाता है। मंगलवार को मसूर की दाल, गेहूं का दान करें।
    8. रोजगार की समस्या अगर आपकी नौकरी छूट गई है या व्यापार ठीक नहीं चल रहा तो संकटमोचन से प्रार्थना करें। मेहनत करते रहें, कोशिश करते रहें, बजरंगबली आपकी मुश्किलों को आसान करते जाएंगे। मंगलवार के दिन सुंदरकांड का पाठ करें। प्रतिदिन हनुमान चालीसा का पाठ करें। मंगलवार को हनुमान जी के मंदिर जरूर जाएं। पांच शनिवार हनुमान जी को चोला चढ़ाएं।
    9. तनाव या चिंता दूर बहुत से लोगों को अनावश्यक भय और चिंता सताती रहती है, जिसके कारण वो तनाव में रहने लगते हैं। तनाव ज्यादा होने पर व्यक्ति कई तरह के रोग से भी घिर सकता है। मन ही मन हनुमानजी के मंत्र ‘ॐ हनुमते नम:’ या ‘ॐ हनुमंते नम:’ का जाप करें। सोने से पहले इस मंत्र का 108 बार जाप करें। सुबह स्नान के बाद भी एक आसन पर बैठकर इस मंत्र का जाप करें। धीरे-धीरे भय, चिंता, तनाव और आशंका मिटने लगेंगे।
    10. मारण-सम्मोहन-उच्चाटन बहुत से व्यक्ति अपने कार्य या व्यवहार से लोगों को रुष्ट कर देते हैं, इससे उनके शत्रु बढ़ जाते हैं। कुछ लोगों को स्पष्ट बोलने की आदत होती है। इस कारण उनके गुप्त शत्रु भी होते हैं। ऐसे समय में यदि आप सच्चे हैं तो श्रीबजरंग बाण आपको बचाता है। इन सब में आपको एक बात का खास ध्यान रखना चाहिए कि जब भी आप बजरंगबली की उपासना करें तो पहले राम नाम का जाप जरूर करें। (BNE)

Related Articles

Back to top button