Healthhomeslider

सिलकोसिस का पता लगाएगी ICMR की किट

ICMR kit to detect silicosis #NayaLookNews

नई दिल्ली। फेफड़ों की बीमारी सिलिकोसिस का पता लगाने के लिए इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने एक नई टेस्ट किट विकसित की है। इस किट की मदद से इस बीमारी का पता स्थिति गंभीर होने से पहले ही लगाया जा सकेगा। सिलिकोसिस का समय से पता लगाना मरीज के स्वास्थ्य के लिए बेहद जरुरी है। पहले की तरह स्वस्थ कर पाना मुश्किल हो जाता है।

बता दें कि सिलिकोसिस बालू, मिट्‌टी और धूल में सिलिका नाम का एक मिनिरल से होने वाली बीमारी है। इस माहौल में काम करने वाले मजदूरों में सिलिका के कण सांसों के जरिए फेफड़ों तक पहुंचते हैं और इनकी संख्या दिन ब दिन बढ़ती रहती है।

सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार केवी सुब्रमण्यम का इस्तीफा

एक वक्त के बाद सिलिका के कण फेफड़ों डैमेज कर देते हैं और मरीज के लिए सांस लेना मुश्किल हो जाता है। यह सबसे गंभीर स्टेज होती है और इसमें फेफड़े ठीक से काम करना बंद कर देते हैं। इतना ही नहीं सिलिकोसिस इसके साथ ही कई अन्य बीमारियों मसलन टीबी, लंग कैंसर और क्रॉनिक ब्रॉन्काइटिस शामिल हैं। का खतरा भी बढ़ाती है।

Related Articles

Back to top button