Punjab

सिद्धू का अध्यक्ष पद से इस्तीफा, सियासी हलको में हैरानी

Sidhu resigns from the post of president, surprised in political circles #NayaLookNews

इस्तीफे को लेकर अटकलों का दौर शुरू


विशेष संवाददाता


चंडीगढ़। पंजाब कांग्रेस की हालिया उठापटक के बाद कांग्रेस की पंजाब इकाई के अध्यक्ष नियुक्त किए गए पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू ने सभी को चौंकाते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से त्यागपत्र दे दिया है। कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजे और सोशल मीडिया पर पोस्ट किए इस्तीफे में नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा, “मनुष्य का चारित्रिक पतन समझौतों से ही शुरू होता है, और मैं पंजाब के भविष्य और पंजाब के कल्याण के एजेंडे के साथ समझौता नहीं कर सकता हूं… इसलिए, मैं पंजाब प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देता हूं… कांग्रेस की सेवा करता रहूंगा।

गौरतलब है कि हाल ही के कुछ दिनों में नवजोत सिंह सिद्धू की मंज़ूरी से हुई गतिविधियों के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह को पंजाब के मुख्यमंत्री पद से हटाकर दलित नेता चरणजीत सिंह चन्नी को पंजाब की गद्दी सौंपी गई थी।
कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजे और सोशल मीडिया पर पोस्ट किए इस्तीफे में नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा, “मनुष्य का चारित्रिक पतन समझौतों से ही शुरू होता है, और मैं पंजाब के भविष्य और पंजाब के कल्याण के एजेंडे के साथ समझौता नहीं कर सकता हूं… इसलिए, मैं पंजाब प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देता हूं… कांग्रेस की सेवा करता रहूंगा…। ” यह कदम ऐसे समय में उठाया गया है, जब सिद्धू के करीबी समझे जाने वाले पंजाब के नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी अपने कैबिनेट में फेरबदल कर रहे थे।

हालांकि सिद्धू को प्रभावशाली माना जता रहा है, लेकिन कहा जा रहा है कि हालिया शीर्ष नियुक्तियों में उनसे सलाह-मशविरा नहीं लिया गया। इतना ही नहीं विवादास्पद समझी गई नियुक्तियों में उन्हें पूरी तरह दरकिनार कर दिया गया। कहा जा रहा है कि सिद्धू इन नियुक्तियों से खफ़ा थे। ऐसा भी माना जा रहा है कि सिद्धू द्वारा ‘समझौता’ शब्द का इस्तीफे में दो बार इस्तेमाल किया जाना केबिनेट फेरबदल में कुछ नापसंद आने वाले चुनावों की तरफ इशारा है।

Related Articles

Back to top button