Delhihomeslider

जेनयू के अध्यक्ष रहे कन्हैया और गुजरात से विधायक जिग्नेश मेवानी कांग्रेस में शामिल

JNU President Kanhaiya and Gujarat MLA Jignesh Mevani join Congress #NayaLookNews

नई दिल्ली। शहीद-ए-आजम की जयंती के मौके पर जेएनयू के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार और गुजरात के विधायक और दलित नेता जिग्नेश मेवानी कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। पार्टी में शामिल होने के बाद कन्हैया ने कहा, ‘शहीदे आजम भगत सिंह को हम नमन करते हैं।

मुझे लगता है कि बहुत कुछ कहने की जरूरत नहीं है। सूचना क्रांति के इस युग में सभी को पहले से ही बहुत कुछ मालूम होता है। उन्होंने कहा कि मैं कांग्रेस पार्टी इसलिए ज्वाइन कर रहा हूं कि मुझे यह महसूस होता है कि इस देश में कुछ लोग केवल लोग नहीं हैं बल्किस वो एक सोच हैं वो न केवल सत्ता पर काबिज हुए हैं बल्किे इस देश का वर्तमान और भविष्य खराब करने में लगे हैं। मैं कांग्रेस में इसलिए शामिल होना चाहता हूं कि मुझे लगता है कि कांग्रेस अगर नहीं बची तो देश नहीं बचेगा।

‘मैं कांग्रेस में शामिल हो रहा हूं क्योंकि यह सिर्फ एक पार्टी नहीं है, यह एक विचार है। यह देश की सबसे पुरानी और सबसे लोकतांत्रिक पार्टी है, और मैं ‘लोकतांत्रिक’ पर जोर दे रहा हूं… सिर्फ मैं ही नहीं कई लोग सोचते हैं कि देश कांग्रेस के बिना नहीं रह सकता। उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि आज इस देश को भगत सिंह के साहस, अंबेडकर की समानता और गांधी की एकता की जरूरत है। मुझे लगता है कि यह देश 1947 से पहले की स्थि ति में चला गया है। बस्ती में जब आग लगे तो बेडरूम की चिंता नहीं करनी चाहिए। आज इस देश में सत्ता से सवाल करने की परंपरा को बचाने की जरूरत है।

कन्हैया कुमार ने कहा कि ‘कांग्रेस पार्टी वो पार्टी है जो महात्मा गांधी, अंबेडकर, भगत सिंह के सिद्धांतों को आगे लेकर चलेगी। भारतीय होने के इतिहास होने को केवल कांग्रेस पार्टी ही समेटे हुए है और अगर विपक्ष कमजोर होता है तो सत्ता निरंकुश हो जाती है। जो कांग्रेस सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी है। अगर उसे नहीं बचाया गया, अगर बड़े जहाज को नहीं बचाया गया तो छोटी कश्तिंयां भी नहीं बच सकेंगी। उन्होंने कहा कि देश में जो वैचारिक संघर्ष छिड़ा है उसे केवल कांग्रेस ही दिशा दे सकती है। जब आप जंग में होते हैं तो उपलब्ध चीजों से ही मुकाबला करने की कोशिश करते हैं।

Related Articles

Back to top button