Rajasthan

चमत्कारः जलकुंभी और दलदल में 32 घंटे फंसा रहने के बाद भी जिंदा निकला अधेड़

Miracle: Even after being trapped in water hyacinth and swamp for 32 hours, middle-aged came out alive #NayaLook

जयपुर। क्या 32 साल तक दलदल में रहने के भी कोई व्यक्ति जिन्दा रह सकता है ? अगर इसका जवाब हां में आए तो हैरान होने की जरुरत नहीं है।राजस्थान के बांसवाड़ा में ऐसा ही एक चमत्कार हो चुका है। यहां एक अधेड़ व्यक्ति पानी के जलकुंभी के मकड़जाल में ऐसा फंसा कि वह 32 घंटे तक पानी से बाहर निकल ही नहीं सका। उसको निकालने में प्रशासन को खासी मशक्कत करनी पड़ी क्योंकि काली मिट्टी वाले दलदल में वह अधेड़ जलकुंभी से बुरी तरह उलझा हुआ था। जलकुंभी के बीच वह गर्दन तक पानी में डूबा हुआ था। घटना के बाद अधेड़ को हार्ट अटैक भी आया।

राजस्थान के खांडा डेरा निवासी नानू मंगलवार सुबह 6 बजे घर से मछली पकड़ने के लिए निकला था। जो गलती से गहरे दलदली हिस्से में जलकुंभी के बीच फंस गया था। मंगलवार सुबह घर से निकला नानू रात तक घर नहीं लौटा। परिजनों ने आसपास तमाम जगहों पर ढूंढा लेकिन कोई पता नहीं चल सका। इसके बाद उसे नजदीकी रिश्तेदारों के यहां तलाशा गया पर वहां भी कोई संपर्क नहीं हुआ। दूसरे दिन बुधवार की सुबह करीब 8 बजे परिजन ने बेक वाटर के करीब उसका गमछा और चप्पलें देखी। उसे इसे देखकर नानू के आस-पास ही होने का अंदेशा हुआ। तब तक यहां परिजन भी आ गए। सबने मिलकर कई घंटों की तलाशा तो पाया कि दलदल के बीच कोई हलचल हो रही है।

उन्होंने यहां गौर से देखा तो नानू की हलचल दिखी। इसके बाद घरवालों ने उसे आवाज दी। आवाज सुनकर एक-दो बार पानी से बाहर हाथ निकालने की कोशिश भी की। बाद में पुलिस के माध्यम से पहुंची सिविल डिफेंस की टीम ने तीन घंटे की मशक्कत के बाद जलकुंभी के दलदल के बीच से नानू को निकाल लिया। वहीं इससे पहले परिवार वालों ने मान लिया था कि नानू की मौत हो चुकी है। सभी इधर उधर नानू को ढूंढे लेकिन वह नहीं मिले। पानी से बाहर निकलते ही नानू को दिल का दौरा पड़ गया। अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां करीब 9 घंटे तक नानू को होश नहीं आया।

Related Articles

Back to top button