Bihar

एक फेक फोटो की वजह से DSP पत्नी को बड़ी परेशानी

DSP wife in big trouble because of a fake photo #Nayalook

पति को IPS बताकर सोशल मीडिया पर पोस्ट की फोटो

पटना। सोशल मीडिया कई बार अभिशाप बन जाता है। इसका जीता-जागता उदाहरण देखना हो तो बिहार के इस पुलिस उपाधीक्षक को देख लीजिए। DSP पत्नी ने अपने पति को IPS की वेशभूषा में सजाया और फोटो क्लिक करके सोशल मीडिया पर डाल दिया। बेरोजगार को IPS के रूप में देखकर जानने वालों ने फोटो को सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया और DSP पत्नी की जान सांसत में फंस गई। मिली जानकारी के मुताबिक बिहार के भागलपुर के कहलगांव की पुलिस उपाधीक्षक (Sub Divisional Police Officer) रेशू कृष्णा ने सोशल मीडिया पर अपने पति को रातोंरात IPS बना दिया। बिहार में SDPO का पद DSP कैडर का होता है। वर्दी में सोशल मीडिया पर फोटो देखकर किसी ने इसकी शिकायत प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) से कर दी। PMO की शिकायत वाला पत्र लीक हो गया और यह मामला मीडिया में आ गया, इसके बाद हड़कंप मच गया। लोग सवाल करने लगे कि आखिर DSP ने IPS की वर्दी कहां से मंगाई और कैसे अपने पति के फिटिंग का सिलवाया।

लोगों का कहना है कि रेशू अपने पति को IPS बताती है और कहती है कि वह PMO में पोस्ट हैं। जानकारों का कहना है कि इस मजाक के चक्कर में रेशू की नौकरी भी जा सकती है या फिर दोनों को कुछ दिनों के लिए जेल भी हो सकता है। गौरतलब है कि सेना और पुलिस की वर्दी आम लोग नहीं पहन सकते हैं। सशस्त्र बल अधिनियम, भारतीय दंड संहिता और आधिकारिक गोपनीयता अधिनियम में इससे जुड़े कई प्रावधान हैं। गोपनीयता अधिनियम की धारा छह में आम लोगों के वर्दी पहनने पर प्रतिबंध है और इसका उल्लंघन करने पर तीन साल की सजा और जुर्माने का प्रावधान है। वहीं, IPC की धारा 140 में तीन महीने तक की जेल और जुर्माना दोनों हो सकता है।
हालांकि इस खबर से सोशल मीडिया पर तपाक से पोस्ट डालने वाले संभलेंगे नहीं। लेकिन साइबर के जानकार कहते हैं कि कोई भी पोस्ट डालने से पहले सावधानी से सारे पहलुओं पर विचार करना जरूरी है।

Related Articles

Back to top button