Biz News

खुशखबरीः महंगाई होगी बेअसर, अब 28 फीसदी ज्यादा महंगाई भत्ता पा सकेंगे केंद्रीय कर्मचारी

Good news: Inflation will be neutral, now central employees will be able to get 28 percent more dearness allowance #Nayalook

  • बकाया तीनों किस्त देने की तैयारी में केंद्र सरकार
  • अब सरकार के पक्ष में माहौल बनाने का चुनावी दांव

नई दिल्ली। इस माह (जुलाई) की पहली तारीख से कर्मचारियों को 28 फीसदी की दर से महंगाई भत्ता दिए जाने का ऐलान केंद्र सरकार ने किया है। पिछले साल कोरोना की वजह से अतिरिक्त चार फीसदी के महंगाई भत्ते को रोक दिया गया था, जिसे जून 2021 तक के लिए लागू किया गया था। अब सरकार ने कर्मचारियों को राहत देते हुए ये रोक हटा दी है। बताते चलें कि सरकार ने बीते साल मार्च में महंगाई भत्ते (DA) और महंगाई राहत (DR) को 17 फीसदी से बढ़ाकर 21 फीसदी करने का ऐलान किया था। बताते चलें कि DA और DR की रकम छमाही आधार पर दी जाती है। हर साल दो बार भत्ते की किस्त मिलती है। राजनीति के जानकारों का कहना है सरकार पहले अपना घर मजबूत करना चाहती है। यानी बढ़ी महंगाई से बिलबिला रहे अधिकारियों और कर्मचारियों के मुंह पर ताला लगाने के बाद आम जनता को किसी भी तरह बरगला सकती है।

मिली जानकारी के मुताबकि पिछले साल कैबिनेट ने सरकारी कर्मचारियों के लिए DA में वृद्धि का ऐलान किया था, लेकिन कोरोना महामारी की वजह से इसे रद्द कर दिया था। COVID-19 की महामारी के चलते वित्त मंत्रालय ने जून 2021 तक केंद्र सरकार के 50 लाख से अधिक कर्मचारियों और 60 लाख से अधिक पेंशनरों के लिए DR में बढ़ोत्तरी पर रोक लगा दिया था। खबरों के अनुसार सरकार ने कर्मचारियों को तीन किश्तों को मिलाकर 11% महंगाई भत्ता देने का फैसला लिया है। यह फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में ली गई थी। बीते बजट सत्र में तत्कालीन वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने राज्यसभा में लिखित बयान दिया था। ठाकुर के मुताबिक एक जुलाई से महंगाई भत्ता 17 फीसदी से बढ़ाकर 28 फीसदी हो जाएगा। इसमें जनवरी-जून 2020 के लिए तीन फीसदी DA, जुलाई-दिसंबर 2020 के लिए चार फीसदी भत्ता और जनवरी-जून 2021 के लिए चार फीसदी भत्ता शामिल है, जो मिलाकर 11 फीसदी होता है।

तत्कालीन वित्त राज्यमंत्री ने कहा था कि केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स को एक जुलाई 2021 से फुल DA और DR मिलेगा। मतलब ये कि अब कर्मचारियों को जुलाई से 28 फीसदी की दर से रकम दी जाएगी।  सरकार के इस फैसले से 48 लाख 34 हजार केंद्रीय कर्मचारियों और 65 लाख 26 हजार पेंशनर्स को लाभ मिलना तय है। आर्थिक जानकारों का कहना है कि सरकार के इस कदम से केंद्रीय खजाने पर 34 हजार 400 करोड़ का बोझ पड़ेगा। हालांकि सरकार ने यह फैसला तब लिया, जब देश में डीजल-पेट्रोल और गैस से लेकर घरेलू खाने-पीने के सामान रोज-रोज महंगे हो रहे हैं।

आखिर कितना मिलता है महंगाई भत्ता…

केंद्रीय कर्मचारियों को फिलहाल 17 फीसदी DA मिलता है। कोरोना की वजह से नहीं मिल पाई पिछली तीन किस्त को जोड़ा जाए तो यह 28 फीसदी हो जाता है। इससे पहले जनवरी 2020 में चार फीसदी DA बढ़ा था। उसके बाद जून 2020 में तीन प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई थी। वहीं जनवरी 2021 में यह चार फीसदी बढ़ा था। लेकिन अब तीनों किस्तों का भुगतान होना है।

क्या होता है महंगाई भत्ता

जानकारों के अनुसार DA कर्मचारी के मूल वेतन का एक निश्चित हिस्सा होता है। महंगाई के असर को कम करने के लिए सरकार अपने कर्मचारियों को महंगाई भत्ता देती है। जिसे समय-समय पर महंगाई के आधार पर बढ़ाया जाता है। वहीं पेंशनर्स को महंगाई राहत मिलता है। यानी यदि आप नौ     करी में है तो आपको महंगाई भत्ता मिलेगा और आप पेंशनर हैं तो आपको महंगाई राहत के नाम से मिलेगा। DA की गणना के लिए सरकार ऑल इंडिया कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (AICPI) पर आधारित महंगाई दर को आधार मानती है। इसी आधार पर हर दो साल में इस पर बदलाव होता है।

Related Articles

Back to top button