National

राहुल के ट्रैक्टर से किसानों के बीच पहुंचने पर FIR

FIR on Rahul reaching among farmers by tractor #Nayalook

विजय चौक तक राहुल के पहुंचने की जांच कर रही है पुलिस

नई दिल्ली। कांग्रेस सांसद व पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के ट्रैक्टर से किसानों के बीच विजय चौक जाने पर दिल्ली पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने राहुल गांधी व कांग्रेस नेताओं के खिलाफ एमवी एक्ट,IPC 188 और महामारी कानून के तहत मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि  राहुल गांधी ट्रैक्टर से विजय चौक पर किस तरह पहुंचे। इस मामले में पुलिस का कहना है कि रविवार देर रात एक कंटेनर में रखकर ट्रैक्टर को लुटियन जोन इलाके में लाया गया था। दरअसल, संसद के मानसून सत्र के कारण इलाके में धारा-144 लागू रहती है। दिल्ली पुलिस ने ट्रैक्टर को जब्त कर लिया है। इस ट्रैक्टर के आगे और पीछे कोई नंबर प्लेट भी नही थी।

दिल्ली पुलिस का कहना है कि कांग्रेस पार्टी की ओर से इस प्रदर्शन की इजाजत नहीं ली गई थी। दिल्ली पुलिस का कहना है कि फिलहाल ये ट्रैक्टर केस प्रॉपर्टी है। इस ट्रैक्टर के आगे और पीछे कोई नंबर प्लेट नहीं होने के कारण इसके मालिक का भी कोई पता अभी नहीं चल पाया है। दिल्ली पुलिस के मुताबिक नई दिल्ली इलाके में ट्रैक्टर चलाने और लाने पर पहले से ही पाबंदी है ऐसे में ये मोटर एक्ट का सीधा-सीधा उल्लंघन है। बता दें कि किसान संसद और दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन को समर्थन देने के लिए कांग्रेस सांसद राहुल सोमवार को ट्रैक्टल चला कर विजय चौक पहुंच गए। पेंट शर्ट पहने राहुल को इस तरह अपने बीच पाकर किसान का जोश बढ़ गया था। राहुल गांधी ट्रैक्टर चले रहे थे और उनके साथ तमाम कांग्रेस नेता किसान आंदोलन वापस लेने की तख्तियां लेकर ट्रैक्टर पर बैठे हुए थे।

कांग्रेस नेताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। पिछले 8 महीनें से चल रहे किसान आंदोलन में तमाम किसान आज उस समय आश्चर्य में पड़ गए जब उनके प्रदर्शन के बीच अचानक कांग्रेस नेता राहुल गांधी पहुंच गए। कांग्रेस सांसद व पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी खुद ट्रैक्टर चलाते हुए विजय चौक पहुंचे। उनके साथ कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला समेत कई कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता थे। पैंट शर्ट पहने राहुल गांधी ट्रैक्टर चले रहे थे, जबकि उनके साथ कई कांग्रेस नेता तख्तियां लेकर ट्रैक्टर पर बैठे हुए थे। कांग्रेसी नेता कृषि कानूनों को वापस लेने वाली तख्तियां लिए थे। इस मौके पर राहुल गांधी ने कहा कि सरकार कह रही है कि किसान खुश हैं। कृषि बिल के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे और धरने पर बैठे किसानों को आतंकवादी और न जाने क्या-क्या कहां जा रहा है।

हकीकत है कि किसानों के अधिकारों को छीना जा रहा है। राहुल ने कहा, मैं किसानों का संदेश लेकर आया हूं। वे किसानों की आवाज दबाने का प्रयास कर रहे हैं और संसद में इन मुद्दों पर बहस नहीं होने दे रहे हैं। उन्हें इन तीनों कृषि कानूनों को वापस लेना ही होगा। उन्होंने कहा कि आज पूरे देश को पता है कि इन कृषि कानूनों से सिर्फ 2-3 उद्योगपतियों को ही भला होगा। गौरतलब है कि संसद का मॉनसून सत्र में विपक्ष सरकार को कृषि कानूनों, महंगाई और पेगासस जासूसी के मुद्दे पर घेरने का प्रयास कर रहा है। बता दें कि किसान आंदोलन के समर्थन में विपक्षी दल कांग्रेस लगातार संसद से लेकर सड़क तक सरकार को घेरने का प्रयास कर रही है। कांग्रेस किसानों के प्रति समर्थन जताने का कोई भी मौका नहीं चूक रही है।

Related Articles

Back to top button