National

अगले 5 दिनों तक UP में बारिश के आसार, रविवार से सोमवार सुबह तक हुई बारिश

Rain expected in UP for next 5 days, rain from Sunday to Monday morning#naya look news

झमाझम बरसात के बीच उत्तर प्रदेश का मौसम हुआ सुहाना

दो दिन पहले की गई मौसम विभाग की भविष्यवाणी बिल्कुल सटीक साबित हुई। मौसम विभाग के अनुसार उत्तर प्रदेश में सोमवार को सुबह झुमकर बारिश हुई। पिछले साल की तुलना में पांच दिन पहले पहुंचे मानसून ने उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश और जम्मू में रविवार तड़के बारिश होने से लोगों को चिलचिलाती गर्मी से राहत मिली। रविवार सुबह शुरू हुई बारिश रात तक चलती रही और सोमवार सुबह भी मानसूनी बारिश का लुत्फ उत्तर प्रदेश निवासियों ने लिया। मौसम विभाग के अनुसार अभी अगले 5 दिनों तक उत्तर प्रदेश समेत उत्तर भारत के कई राज्यों में बारिश की संभावना है। कई जिलों में हल्की तो कई जिलों में भारी बारिश के संकेत मिल रहे हैं। पूर्वांचल के जिलों के साथ-साथ मध्य अवध के जिले जैसे लखनऊ, रायबरेली, अमेठी, बाराबंकी, कानपुर, उन्नाव और सीतापुर में भी झमाझम बारिश हो रही है।

लखनऊ स्थित मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि वैसे तो हर साल 20 जून के आसपास मानसून दस्तक देता है। इस बार बदले हालात में यह काफी पहले आ रहा है। बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है। 11 जून से बंगाल, बिहार, झारखण्ड और पूर्वी यूपी में इसका असर दिखने लगेगा। पूर्वी यूपी में इसका असर सोनभद्र, चंदौली, गाजीपुर, वाराणसी या यूं कहें कि बिहार की सीमा से लगे जिलों में देखने को मिलने लगेगा। उनकी यह भविष्यवाणी सच हुई और आज 14 जून तक बारिश पूरे UP में हो रही है। मौसम विभाग ने पहले ही कह दिया था कि 12 और 13 जून को पूरे प्रदेश में मानसूनी बारिश की उम्मीद है। बंगाल की खाड़ी से उठने वाला ये सिस्टम जब तक कमजोर पड़ेगा तब तक हिन्द महासागर से चली मानसूनी हवाएं प्रदेश की सीमा में दाखिल हो जाएंगी। कुल मिलाकर इस बार जून के महीने में बारिश सुकून देगी पर बारिश और बादलों की आवाजाही के बीच किसी-किसी दिन भीषण उमस का भी सामना करना पड़ेगा।

वहीं न्यूनतम तापमान औसत से पांच डिग्री कम 20.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज रहा। राजधानी दिल्ली में रविवार सुबह न्यूनतम तापमान 23.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि इस मौसम के औसत से चार डिग्री कम है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार दिल्ली में अगले दो से तीन दिनों में मानसून पहुंचने की संभावना है। रविवार तक मानसून ने पूरे ओडिशा, पश्चिम बंगाल, झारखंड, बिहार, जम्मू और कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद और हरियाणा के कुछ हिस्सों, चंडीगढ़ और उत्तरी पंजाब को कवर कर लिया है, जो देश के लगभग 80 प्रतिशत भौगोलिक क्षेत्र को कवर करता है। वहीं दक्षिण भारत के कई राज्यों में मानसून के चलते तेज बारिश हो रही है।

बिहार में राजनीतिक भूचाल भाई के मरते ही भाई हुआ बागी

महाराष्ट्र और गोवा में भी मानसून पूरी तरह से आ चुका है। अगले दो तीन दिनों में दक्षिण पश्चिम मानसून के पूरे उत्तर भारत में सक्रिय होने की उम्मीद है।बकौल IMD, अगले 48 घंटों में मध्य प्रदेश के अधिकांश हिस्सों, पूर्वी उत्तर प्रदेश के शेष भाग, दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब के कुछ और हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं। IMD ने एक कई जगहों पर येलो अलर्ट जारी किया है। कई जगहों पर भारी बारिश के संकेत हैं। पांच मंडलों में अलग-अलग स्थानों पर बिजली व गरज के साथ बौछारें पड़ने का पूर्वानुमान व्यक्त किया है।

Related Articles

Back to top button