Education

छात्रों एवं अभिभावकों की विशेष मांग पर 10वीं एव 12वीं की परीक्षाएं रद्द

10th and 12th examinations canceled on special demand of students and parents

रंजन कुमार सिंह


रांची। तेलंगाना, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, ओड़िशा, उत्तराखंड, गुजरात, महाराष्ट्र के बाद झारखंड सरकार ने भी 10वीं एवं 12वीं की परीक्षा रद्द कर दी है। इसके पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने 10वीं-12वीं की परीक्षा रद्द कर दी थी। उसके कुछ घंटों बाद भी ICSE और ISC बोर्ड ने भी अपनी-अपनी परीक्षाओं को रद्द कर दिया था। अधिकारियों ने कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राज्य में कोविड -19 की स्थिति को देखते हुए ये फैसला लिया गया है। सीएम हेमंत सोरेन ने ट्वीट कर भी इस बात की जानकारी दी है।

अब दिल्ली में पियक्कड़ों की और होगी मौज, होम डिलीवरी करेगी सरकार

हालांकि इसके पहले देश के कई मुख्यमंत्रियों ने मांग किया था कि पेपर पर परीक्षा देना छात्रों के लिए सुरक्षित नहीं है, इसलिए यह परीक्षाएं रद्द कर दी जाए। मिली जानकारी के मुताबिक झारखंड सरकार ने कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए गुरुवार को इस साल 12वीं कक्षा की परीक्षा रद्द करने का फैसला किया। सरकार के फैसले के मद्देनजर, झारखंड एकेडमिक काउंसिल (JAC) ने 10वीं और 12वीं के 7.5 लाख से अधिक छात्रों के भाग्य का फैसला करने के लिए शुक्रवार को एक मीटिंग बुलाई है।

केजरीवाल सरकार का एक और बड़ा फैसला, नौ वीं और 11 वीं कक्षाओं की परीक्षा भी रद्

खबरों के मुताबकि JAC के सचिव महीप कुमार सिंह ने कहा कि छात्रों को अगली कक्षाओं में पदोन्नत करने और परिणाम घोषित करने के लिए मूल्यांकन की रणनीति सहित भविष्य की रणनीति तय करने के लिए शुक्रवार को एक बैठक बुलाई गई है। हालांकि झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने यह स्पष्ट किया है कि सरकार ने छात्रों एवं अभिभावकों निवेदन पर ऐसा किया है। उन्होंने यह कहीं नहीं जाहिर होने दिया, कि CBSE की तर्ज पर झारखंड की परीक्षाएं भी निरस्त की गई हैं।

Related Articles

Back to top button