Nationalराष्ट्रीय

दिल्ली के लिए खुशखबरीः हजार के नीचे आया कोरोना मरीजों का आंकड़ा

Good news for Delhi: Corona patients figure under thousand

पॉजिटिविटी रेट एक फीसदी के नीचे (0.99%) पहुंचा, मंगलवार से अनलॉक प्रक्रिया जारी


नई दिल्ली। राजधानी में कोरोना की स्थिति में लगातार सुधार हो रहा है। मंगलवार को कोरोना पॉजिटिविटी रेट 1 फीसदी के नीचे (0.99%) पहुंच गया। 19 मार्च के बाद यह लगातार दूसरा दिन है जब पॉजिटिविटी रेट 1 फीसदी से नीचे है। यहां पिछले 24 घंटों में 648 नए मामले सामने आए हैं जबकि 86 लोगों की मौत कोरोना की वजह से हुई है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना टीकों की खरीद के लिए एक वैश्विक निविदा जारी की है। मुख्यमंत्री ने सोमवार (31 मई) से अनलॉक की प्रक्रिया शुरू करते हुए निर्माण कार्यों और फैक्टरियों को खोलने के लिए इसमें सशर्त छूट दी है।

सड़क पर दिखा बाघ का जोड़ा, वीडियो हुआ वायरल

दिल्ली में सोमवार को कोरोना वायरस के 648 नए मरीजों की पुष्टि हुई जो दो पिछले ढाई महीनों में सबसे कम है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमण दर एक फीसदी से नीचे आ गई है जो 19 मार्च के बाद सबसे कम है। दिल्ली में लगातार दूसरी बार है जब एक दिन में 100 से कम लोगों की मौत दर्ज की गई है। राष्ट्रीय राजधानी में पिछले 24 घंटों के दौरान मंगलवार शाम तक कोरोना संक्रमण के 623 नए मामलों की पुष्टि हुई है और इस महामारी से 62 और मरीजों की जान चली गयी।

पीएम मोदी की बैठक में बड़ा फैसला, सीबीएसई 12वीं बोर्ड परीक्षा रद्द

स्थ्य बुलेटिन के मुताबिक इससे पहले 18 मार्च को राजधानी में कोराेना के 607 नए मरीज पाए गए थे। दिल्ली में नए मामलों के साथ संक्रमितों की कुल संख्या 14,26,863 तक पहुंच गयी, वहीं 62 लोगों की मौत से मृतकों का कुल आंकड़ा 24,299 हो गया है। राजधानी में संक्रमण दर अब 7.34 फीसदी है जबकि मृत्यु दर 1.70 फीसदी है। सक्रिय मामलों की संख्या 10,178 रह गयी है। मृतकों के मामले में देशभर में दिल्ली तीसरे स्थान पर है। राजधानी में इस समय 4405 लोगों को विभिन्न अस्पतालों और कोविड केयर सेंटरों में उपचार किया जा रहा है तथा 4888 लोग होम आइसोलेशन में हैं। राजधानी में पिछले 24 घंटों के दौरान कुल 70,810 नमूनों का परीक्षण किया गया जिसमें से RTPCR/CBNAT/ ट्रूनेट से 46,715 और रैपिड एंटीजन से 24,098 नमूनों का परीक्षण किया गया। प्रत्येक 10 लाख आबादी पर जांच का औसत 10,19,636 है।

CBSE की तरह ISC ने भी 12वीं की परीक्षा रद्द की

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार राजधानी के विभिन्न अस्पतालों में 20,347 कोरोना बेड उपलब्ध है और समर्पित कोविड केयर सेंटरों में 6148 तथा समर्पित कोविड हेल्थ केयर सेंटरों में 520 बेड उपलब्ध है। राजधानी में अप्रैल माह में कोरोना के चरम के दौरान कई दिनों तक केवल पांच से छह प्रतिशत बेड ही उपलब्ध रहे थे। गौरतलब है कि राजधानी में 19 अप्रैल को छह दिन का लॉकडाउन शुरू किया गया और कोरोना के कारण लगातार मृत्युदर बढ़ने और संक्रमण दर बढ़ने के कारण लगातार लॉकडाउन को बढ़ाया गया। राजधानी में सात जून तक लॉकडाउन को बढ़ाया गया है।

Related Articles

Back to top button