NationalScience & Tech

अदालत की शरण में पहुंचा व्हाट्सएप, कहा- निजता का हनन कैसे करें?

WhatsApp reached the court, said - how to violate privacy?

नई दिल्ली। केंद्र सरकार की नई नीति के खिलाफ फेसबुक का मैसेंजर ब्रांड व्हाट्सएप ने अदालत का दरवाजा खटखटाया है 1 दिन पहले यानी मंगलवार को व्हाट्सएप में सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दायर की और केंद्र की नीति के खिलाफ अपना पक्ष रखा।

Whatsapp को सरकार की चेतावनीः पॉलिसी वापस लो, वरना उठा सकते हैं कठोर कदम

पीएम मोदी ने फेसबुक और ट्विटर से बनाई दूरी, दो दिन से नहीं की कोई पोस्ट

सोशल मीडिया साइट ट्विटर और फेसबुक पर भारत में नियम पालन की सख्तियों को लागू करने के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले दो दिनों से इन दोनों से दूरी बना ली है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दो दिन पहले ट्विटर और फेसबुक पर पोस्ट की थी उसके बाद से उन्होंने इन दोनों साइट्स पर कोई पोस्ट नहीं की जा रही है।

Big news : क्या बंद होगी ट्वीटर, इंस्टाग्राम और फेसबुक जैसी सोशल मीडिया कंपनियां

क्या देश मे दो दिन बाद ट्वीटर,इंस्टाग्राम और फेसबुक जैसी सोशल मीडिया कंपनियां काम करना बंद कर देंगी। यह सवाल इन दिनों चर्चा में है और बेहद महत्वपूर्ण भी है। दरअसल इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने सभी सोशल कंपनियों को नए नियमों का पालन करने के लिए तीन महीने का समय दिया था। 26 मई 2021 से नए नियम लागू होने जा रहे हैं।

कहीं आपको एडिक्शन तो नहीं…जानिए सोशल मीडिया के इफेक्ट्स

अभी तक केवल कू नाम की कंपनी को छोड़ कर किसी अन्य कंपनी ने इनमें से किसी अधिकारी की नियुक्ति नहीं की है। ऐसे में इन कंपनियों का इंटरमीडियरी स्टेटस छिन सकता है। इतना ही नहीं वे भारत के मौजूदा कानूनों के तहत आपराधिक कार्रवाई के दायरे में आ सकती हैं। दरअसल मंत्रालय ने सभी सोशल मीडिया को भारत सरकार के नए नियमों का पालन करने के लिए तीन महीने का समय दिया था।

रॉयटर्स के मुताबिक वॉट्सऐप के प्रवक्ता ने इस बाबत जानकारी देते हुए कहा कि हर संदेश को इस तरह ट्रेस रखने को कहना एक तरह से वॉट्सऐप पर भेजे गए सारे मैसेज पर नजर रखने जैसा होगा, जो कि एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन को खत्म कर देगा और लोगों की ‘निजता के अधिकार’ का उल्लंघन होगा। साथ ही कहा है कि, ‘इस बीच हम किसी जानकारी के लिए कानूनी रूप से मांगे गए वैध्य आग्रह का जवाब सहित लोगों को सुरक्षित रखने के लिए भारत सरकार के साथ लगातार बातचीत करते रहेंगे।

Whatsapp: Policy Accept न करने पर बंद हो जाएंगे ये फीचर्स

व्हाट्सऐप अपनी नई पॉलिसी 15 मई से लागू कर चुका है। जिसके बारे में पिछले कुछ महीनों से लोगों के मन में चिंता और आक्रोश दोनों देखने को मिल रहा था। इसी बीच सरकार के इलेक्ट्रानिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने Whatsapp को चेतावनी दी है कि यदि कम्पनी अपनी पॉलिसी वापस नहीं लेगी तो कठोर कदम उठाने पड़ सकते हैं। बताते चलें कि पूरी दुनिया में Whatsapp अपनी नई पॉलिसी लागू कर चुका है। इसके पहले दिल्ली हाईकोर्ट ने इस मुद्दे पर केंद्र सरकार और Whatsapp दोनों से ही जवाब मांगा था।

व्हाट्सएप निजता नीति की डेडलाइन खत्म, अब शुरू होंगे प्रतिबंध

WhatsApp ने चेतावनी दी है कि कुछ हफ्तों तक इन सीमित फीचर्स का इस्तेमाल करने के बाद, इनकमिंग कॉल्स व नोटिफिकेशन मिलने बंद हो जाएंगे और यूज़र न तो आप WhatsApp पर मैसेज भेज पाएगा और न ही कॉल कर पाएगा। साथ ही यह भी बताया गया है कि इनएक्टिव अकाउंट्स पर पर भी मौजूदा प्राइवेसी पॉलिसी लागू होगी। Whatsapp ने साफ किया है कि अगर आप तब तक अपडेट की गई शर्तों और प्राइवेसी पॉलिसी को स्वीकार नहीं करते, तो आप WhatsApp के कुछ फीचर्स का सीमित इस्तेमाल कर पाएंगे।

Related Articles

Back to top button