International

अमेरिका में इंसान से जानवर में मिला कोरोना संक्रमण का पहला केस

न्यूयार्क। अमेरिका के एक चिड़ियाघर में इंसान से बाघ में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। यह संक्रमण चिड़ियाघर के केयरटेकर के जरिये हुआ है। चिड़ियाघर को न्यूयॉर्क में कोरोना के बढ़ते हुए प्रकोप के चलते 16 मार्च को पयर्टकों के लिए बंद कर दिया गया था। बाघ में कोरोना की पुष्टि 27 मार्च को हुई है। हालांकि वह अब ठीक भी हो रहा है। अभी तक यह माना जा रहा था कि कोरोना मनुष्य से मनुष्य में फैलता है मगर न्यूयॉर्क के चिड़ियाघर के मामले ने इस धारणा को उलट दिया है।
कोरोना पॉजिटिव यह टाइगर न्यूयॉर्क के ब्रोंक्स ज़ू में है।

चिडियाघर के 4 वर्षीय मलयाल नस्ल के बाघ का नाम नादिया है। उसके साथ छह अन्य बाघ और शेर भी बीमार पड़ गए लेकिन उनकी जांच रिपोर्ट नेगेटिव आने से पशु व वन्य जीव विशेषज्ञों ने राहत की सांस ली है। चिड़ियाघर के अफसरों का कहना है कि बढ़ती महामारी के बीच कोरोना का यह नया संक्रमण स्तब्ध करने वाला है। चिड़ियाघर के निदेशक जिम बेरेनी ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि यह खोज उस वायरस के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में योगदान दे सकती है जो COVID-19 का कारण बना है। यह खोज विभिन्न प्रजातियों में कोरोना की प्रतिक्रिया के बारे में भी बहुत कुछ जानकारी देगी जो आगे चलकर शोधकर्ताओं के लिए नई दिशा देने वाली होगी।

उन्होंने कहा कि यह खोज जानवरों में वायरस के संचरण के बारे में नए सवाल उठाती है। अमेरिकी कृषि विभाग ने अपनी पशु चिकित्सा प्रयोगशाला में नादिया के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि करते हुए कहा कि इसके अलावा अमेरिकी पशुओं और पेट्स में संक्रमण के कोई मामले सामने नहीं आये हैं।
पशु चिकित्सक डॉ जेन रूनी का कहना है कि जानवर से इंसान में संक्रमण के कोई सबूत नहीं मिले हैं।

विशेषज्ञों का कहना है कि दुनिया भर में कोरोनोवायरस का संक्रमण व्यक्ति-से-व्यक्ति के संचरण से होता है। अलबत्ता यूएस के बाहर पालतू कुत्तों या बिल्लियों के संक्रामक लोगों के संपर्क में आने के बाद संक्रमित होने की खबरें आई हैं। जिसमें एक हांगकांग कुत्ता भी शामिल है। हांगकांग के कृषि अधिकारियों ने निष्कर्ष निकाला कि पालतू कुत्ते और बिल्लियाँ मानव को वायरस नहीं दे सकते हैं लेकिन यदि उनके मालिकों में संक्रमण हुआ तो वे पॉजिटिव हो सकते हैं।

पेरिस स्थित विश्व संगठन फॉर एनिमल हेल्थ के अनुसार, कुछ शोधकर्ताओं ने वायरस के लिए विभिन्न जानवरों की प्रजातियों की संवेदनशीलता को समझने की कोशिश की है। और यह जानवरों के बीच कैसे फैलता है, यह जानने के लिए शोधरत है। अमेरिकन वेटरनरी मेडिकल एसोसिएशन व रोग नियंत्रण और रोकथाम के संघीय केंद्रों ने पेट्स रखने वालों को सावधानी बरतने की सलाह दी है। कहा है कि कोरोनावायरस से पीड़ित लोगों को जानवरों के साथ संपर्क सीमित करना चाहिए।
इसी क्रम में, सीडीसी ने लोगों को जानवरों को संभालने के बाद हाथ धोने और पालतू जानवरों और उनके घरों को साफ रखने के की सलाह दी है।

Related Articles

Back to top button