एनसीईआरटी की पुस्तकें कोर्स में हो शामिल, निजी स्कूल के खिलाफ खोला मोर्चा

नयालुक संवाददाता

हरिद्वार। ज्वालापुर व्यापार मण्डल एवं अभिभावकों ने बहादराबाद हाइवे स्थित विजडम ग्लोबल स्कूल के गेट के बाहर एकत्र होकर स्कूल प्रबन्धन द्वारा ली जा रही मनमानी फीस एवं कक्षा 1 से 5 तक एनसीईआरटी की किताबें कोर्स में ना सम्मिलित करने पर अभिभावकों एवं व्यापारियों ने जोरदार नारेबाजी की। ज्वालापुर व्यापार मण्डल के अध्यक्ष विपिन गुप्ता ने कहा कि निजी स्कूलों की मनमानी लगातार बढ़ती जा रही है। शिक्षा मंत्री के आदेशों का पालन नहीं किया जा रहा है। अभिभावक मानसिक परेशानियों से जूझ रहे है। एनसीईआरटी के पुस्तकें स्कूलों के कोर्स मंे शामिल कर दी गई है लेकिन कुछ स्कूल प्रबन्धक अपनी मनमानी पर अड़े हुए हैं। उन्होंने कहा कि अभिभावकों से अलग-अलग प्रकार के शुल्क वसूले जा रहे हैं जो कि किसी भी रूप में बर्दाश्त नहीं किये जायेगें। एनसीईआरटी की पुस्तकों को जल्द से जल्द कोर्स में सम्मिलित किया जाये वरना चरणबद्ध तरीके से आन्दोलन चलाया जायेगा। महामंत्री विक्की तनेजा ने कहा कि अभिभावकों को निजी प्रकाशन की पुस्तकंे खरीदने के लिए बाध्य किया जा रहा है जो कि अनुचित है। अभिभावकों द्वारा इस बात का विरोध करने पर अध्ययनरत बच्चों को स्कूल से निकालने की धमकियां भी दी जा रही है। शिक्षा विभाग के अधिकारी इस ओर कोई संज्ञान नहीं ले रहे हैं। एनसीईआरटी की पुस्तकें कोर्स में शामिल नहीं किये जाने का फरमान भी निजी स्कूल प्रबन्धक अभिभावकों को दे रहे है। एडमिशन फीस, वार्षिक शुल्क के नाम बदलकर अनेकों तरीके से धनराशि वसूल कर खुलेआम अभिभावकों का शोषण किया जा रहा है। विक्की तनेजा ने कहा कि शिक्षा मंत्री अरविन्द पाण्डे के आदेशों का पालन शिक्षा विभाग के अधिकारियों को कराना चाहिये। यदि स्कूल अपनी मनमानी पर उतारू रहते है तो बड़ा आंदोलन चलाया जायेगा। अनिरुद्ध मिश्रा ने कहा कि शिक्षा का बाजारीकरण नहीं होना चाहिये समान रूप से शिक्षा के अवसर प्रदान किये जाये। प्रदर्शन करने वालों मंे गौरव गोयल, रूपेश गोयल, मगन बंसल, दिनेश, अंकित बंसल, आशीष गुप्ता, आचार्य सुमित रावल, नरेश बजाज, संजय वर्मा, सचिन मेहता, श्याम कोचर, वाशीष मेहता, ओमप्रकाश विरमानी, शुभम अग्रवाल, गौरव, तरूण भाटिया, मधु चावला, अंकित अग्रवाल, डाॅ0 पवन, प्रमोद, गगन शर्मा, सचिन अग्रवाल, मुकेश सैनी आदि उपस्थित रहे।

Covid19 World