गोरखनाथ मंदिर में सीएम योगी आदित्यनाथ पर आतंकी हमले का खतरा

रिपोर्ट- राघवेंद्र दास

गोरखपुर। गोरखनाथ मंदिर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर आतंकी पत्रकार बनकर हमला कर सकते हैं। आईबी व अन्य खुफिया एजेंसियों से मिले इस इनपुट के बाद मंदिर की सुरक्षा और बढ़ा दी गई है। अब मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की कवरेज के लिए गोरखनाथ मंदिर में वही पत्रकार प्रवेश कर सकेंगे, जिनके पास पुलिस से जारी पहचान पत्र रहेगा।

इसके लिए शहर के पत्रकारों की एलआईयू जांच कराने के बाद सबके फोटोयुक्त पहचान पत्र बनाए जा रहे हैं। दो महीने पहले खुफिया एजेंसियों ने अलर्ट जारी किया था कि आतंकी गोरखनाथ मंदिर में ही मुख्यमंत्री पर हमला कर सकते हैं। इसके बाद पुलिस ने मंदिर का सुरक्षा घेरा और सख्त कर दिया है। मंदिर के आसपास हथियारबंद और फोर्स बढ़ा दी गई है।

दरअसल, मुख्यमंत्री गोरखनाथ मंदिर में पत्रकारों से बेहद सहजता से मिलते हैं। खुफिया सूचना के मुताबिक आतंकी इसका फायदा उठा सकते हैं। वे पत्रकारों के बीच में शामिल होकर जानलेवा हमला कर सकते हैं। खुफिया एजेंसियों के अलर्ट को पुलिस, प्रशासन ने गंभीरता से लिया। फोटोयुक्त पहचान अब बनकर तैयार है। इसे जल्द ही अधिकृत पत्रकारों को उपलब्ध करा दिया जाएगा।एसएसपी, डॉ. सुनील कुमार गुप्ता ने बताया कि पत्रकारों को असुविधा न हो और उनकी पहचान भी हो सके इसके लिए पहचान पत्र बनवाया गया है। जल्द ही अधिकृत पत्रकारों को फोटोयुक्त पहचान पत्र मुहैया कराया जाएगा।