रूचि अग्रवाल के सिर सजा ‘क्वीन ऑफ अवध’ का ताज

लखनऊ। इसी का नाम ज़िन्दगी संस्था द्वारा “क्वीन ऑफ अवध” 45 वर्ष से 65 वर्ष की महिलाओं के लिए प्रतियोगिता का अंतरराष्ट्रीय बौद्ध शोध संस्थान गोमतीनगर में अयोजन किया गया। जहाँ ‘क्वीन ऑफ अवध’ का ताज रूचि अग्रवाल के नाम रहा। वहीँ राखी गुप्ता फर्स्ट रनर अप और मंजू संकर सेकंड रनर उप रहीं। कार्यक्रम का शुरुआत संयुक्ता भाटिया ( मेंयर ऑफ लखनऊ) ने द्वीप प्रजलवन कर किया। वहीं विशिष्ट अतिथि के रूप में प्रोफेसर सप सिंह ( वाइस चांसलर लखनऊ यूनिवर्सिटी) और प्रकाश गौर ( जनरल मैनेजर फेना प्राइवेट लिमिटेड ) मौजूद रहे। कार्यक्रम में 45 वर्ष से 65 वर्ष की कुल 30 महिलाओं ने प्रतिभाग किया और यह साबित कर दिया कि उमर हुनर की मोहताज नहीं होती प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में मैक मलिक, समीना वारसी, डॉक्टर मधु अग्रवाल शामिल रहे प्रतियोगिता 6 चरणों में समाप्त हूई। प्रतियोगिता में नीता शुक्ला, सुषमा चंद्रा, कविता गोयल, माधवी, रूपाली गुप्ता, भावना श्रीवास्तव, मंजू शंकर निवेदिता, आरती श्रीवास्तव, आभा रस्तोगी, विभा शुक्ला, आदि ने प्रतिभाग किया कंचन रस्तोगी को मिसेज टैलेंटेड का अवॉर्ड मिला जो 65 वर्ष की है। कार्यक्रम में अनीता शर्मा , रश्मी पाठक, राखी सिंह, रानी श्रीवास्तव, दिव्या शुक्ला, शिवाली रस्तोगी, पुष्पा मिश्रा ने जज की भूमिका निभाई। कार्यक्रम का सम्पूर्ण संचालन संस्था की अध्यक्ष कविता शुक्ला ने किया।