CM की नाराजगी के बाद एसएचओ गोला निलंबित जबकि ईओ गोला पर कार्यवाही का इंतज़ार

  • ईओ पर कार्यवाही को लेकर जिलाधिकारी से मुलाकात करेंगी गोला नगर पंचायत अध्यक्ष : सूत्र
  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की नाराजगी

 

गौरव श्रीवास्तव

गोरखपुर । जन सुनवाई के दौरान मिली शिकायतों को संज्ञान में लेते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने एसएचओ गोला और नगर पंचायत गोला के ईओ पर नाराजगी जताते हुए मौके पर उपस्थित अधिकारियों से कार्यवाही करने के लिए कहा था।मुख्यमंत्री के निर्देशों पर बुधवार को एसएसपी डॉ0 सुनील गुप्ता ने बड़ी कार्यवाही करते हुए एसएचओ गोला को तो निलंबित कर दिया मगर नगर पंचायत गोला के अधिशासी अधिकारी पर जिला स्तर से कोई कार्रवाई न किए जाने से राजनैतिक और प्रशासनिक हलकों में कानाफूसी का दौर शुरू हो गया।इस संबंध में जब निकाय प्रभारी और अपर जिलाधिकारी (वि/रा) राजेश कुमार सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया कि बृहस्पतिवार को उन्होंने नगर पंचायत गोला की अध्यक्ष लालती देवी को अपने कार्यालय पर बुलाया है ताकि मामले को समझा जा सके।

बताते चलें कि ईओ गोला पर बराबर कार्यालय में न बैठने और जनता से न मिलने, कर्मचारियों के वेतन भुगतान में विलम्ब करने समेत अध्यक्ष को सम्मान न देने का आरोप लगने की बात कही जा रही है.इस मामले में जब ईओ का पक्ष लेने का प्रयास किया गया तो उनसे संपर्क नही हो सका।वहीं दूसरी ओर सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार लालती देवी अपने पति के साथ जिलाधिकारी से मिलने के लिए गोरखपुर आ सकती हैं।बताया जा रहा है कि अध्यक्ष लालती देवी जिलाधिकारी से मिलकर अपना पक्ष रखेंगी।बहरहाल एसएचओ गोला का निलंबित हो जाना और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की नाराजगी के बावजूद नगर पंचायत गोला के ईओ का अभी तक अपने पद पर बने रहना कई तरह का सवाल खड़ा कर रहा है।