रिश्वत लेने के मामले में SDM ने लेखपाल को किया निलंबित

रिपोर्ट -नरेंद्र गुप्ता नया लुक

गोंडा । यूपी के गोंडा गत दिवस समाचार पत्र में खबर छपी DM साहब सवा लाख घूस लेने वाला लेखपाल अब तक सुरक्षित और मात्र छह हजार घूस लेने वाला राजस्व निरीक्षक निलंबित क्यों, इस पर जिला प्रशासन की तरफ से उक्त लेखपाल को स्पष्टीकरण हेतु नोटिस जारी किया गया तो शातिर दिमाग लेखपाल ने ₹121500 घूस देने वाले का फर्जी हस्ताक्षर युक्त एक संतुष्टि पत्र प्रस्तुत कर दिया और कहा कि मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता,जब लेखपाल संतोष श्रीवास्तव के इस कृत्य की जानकारी पाटन दीन गोस्वामी को हुई, तो उसने लेखपाल से इसका विरोध किया तो उसने तमाम लोगों से पीड़ित को धमकाने का प्रयास किया।

क्या था पूरा मामला

दरअसल सदर तहसील के अंतर्गत इमरती बिसेन के गोसाई पुरवा निवासी पाटन गोस्वामी ने अपने एक भूमि को आबादी घोषित करवाने के लिए खैरा के लेखपाल संतोष श्रीवास्तव को ₹121500 दिए थे जिसमें उक्त दबंग लेखपाल संतोष श्रीवास्तव के द्वारा यह कहा गया,इस रकम में से बड़ा सा हिस्सा उपजिलाधिकारी सदर महोदय को भी देना पड़ेगा, तब जाकर आपका 143 आबादी घोषित हो पाएगा मरता नहीं तो करता क्या वाली कहावत के तहत पाटन गोस्वामी ने लेखपाल को पैसे दिए थे, जो आज भी उसी लेखपाल के पास में है और इस बाबत पाटन के द्वारा कहीं भी कोई संधिपत्र नहीं दिया गया इस संबंध में जब पाटन गोस्वामी से वार्ता किया गया तो उसने कहा कि हम स्वयं मिलकर जिले व मंडल के शीर्ष अधिकारियों से इस दबंग लेखपाल की शिकायत करेंगे।

जब विभिन्न समाचार पत्रों में इसका खुलासा हुआ तो अंततोगत्वा उपजिलाधिकारी सदर ने 8/7 /2019 को निलंबित कर दिया।