हिन्दू मुस्लिम आस्था का प्रतीक मदार मेला शुरू

  • 3 स्थानों पर चिकित्सा शिविर व 20 अस्थाई सावर्जनिक शौचालयों का किया गया निर्माण
  •  15 लाख़ से ज्यादे श्रद्धालुओं के आने का किया गया दावा

अरुण वर्मा/जीतेन्द्र गुप्ता

नेपाल। नवलपरासी जनपद के कुड़िया गाविस वार्ड नम्बर 6 महलवारी बाजार से करीब 9 किमी ऊँची दुर्गम पहाड़ी पर स्थित मदार मेले का शुभारंभ बुधवार से शुरू हो गया । मेले में किसी भी प्रकार की अनहोनी को रोकने के लिए कड़े सुरक्षा व्यवस्था के इंतमामजात किये गए है। वही मदार मेला व्यवस्थापन समिति के अध्यक्ष जमालुद्दीन अन्सारी ने दावा किया कि इस बार श्रद्धालुओ की तादात पहले की अपेक्षा काफी बढ़ेगी।

जानकारी के अनुसार मदार मेले का शुभारंभ पूरी भव्यता के साथ दिन बुधवार से शुरू हो गई। जिसकी तैयारियों के बारे में आयोजक समिति ने बताया कि इस बार के मेले में आने वाली भीड़ को देखते हुए सुरक्षा के दृष्टिकोण से 2 सौ सुरक्षाकर्मी के साथ साथ 100 स्वयं सेवकों की तैनाती की गई है। जबकि उचित स्वास्थ्य सेवा के लिए 3 शिविरों की भी व्यवस्था की गई है।

मेले के आस पास के क्षेत्रो को खुला शौच मुक्त करने के पहल पर समिति ने 20 अस्थाई शौचालयों का भी निर्माण कराया है जिससे कि मेले में आने वाले लोगो को किसी भी प्रकार की दिक्कत ना होने पाए। मेला समिति के अध्यक्ष जमालुद्दीन अन्सारी ने बताया कि इस बार मेले में पूर्व से ज्यादे श्रद्धालु आएंगे । उन्होंने बताया कि करीब 15 लाख से ज्यादे श्रद्धालुओं के आने की संभावना है।

मेले के बारे में उन्होंने बताया कि यह 603 वां बदिरूद्दीन जिन्दा शाह का मेला है जो परंपरागत तरीक़े से चलता चला आ रहा है। ऐसी मान्यता है कि यहां पर मन्नतें मांगी जाती है और उसके पूरा होने पर चादर चढ़ाया जाता है। इस मेले में सभी धर्म व सम्प्रदाय के लोग हिस्सा लेते है। यहां नेपाली, बांग्लादेशी सहित भारतीय क्षेत्र से बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते है।