कूटरचित दस्तावेजों के सहारे नौकरी करने वाला अध्यापक निलंबित

  •  देवरिया बेसिक शिक्षा अधिकारी ने फर्जी अध्यापक को किया निलंबित
  • फर्जी डिग्रियों के आधार पर कर  रहा था बड़हलगंज के प्राथमिक विद्यालय में कर रहा था नौकरी

 

रिपोर्ट- राघवेंद्र दास

गोरखपुर। दूसरे के प्रमाण पत्रों के सहारे नौकरी करने वाले बड़हलगंज के प्राथमिक विद्यालय खजूरी पांडे में तैनात सहायक अध्यापक नीरज पांडे को बेसिक शिक्षा विभाग ने निलंबित कर दिया है। आरोप है कि नीरज पांडे देवरिया के एक परिषदीय विद्यालय में तैनात शिक्षक के दस्तावेजों का कूटरचित इस्तेमाल कर नौकरी कर रहे हैं। देवरिया के रहने वाले बालमुकुंद पांडे ने इसकी शिकायत बेसिक शिक्षा विभाग से जनवरी में की थी।

जांच के दौरान जब नीरज के हाईस्कूल के प्रमाण पत्रों की जांच कराई गई तो सारा सच सामने आया है। शिकायतकर्ता बालमुकुंद पांडे ने बताया कि देवरिया के ग्राम बिशुनपुरा निवासी नरेंद्र कुमार पांडे दूसरे के नाम और दस्तावेजों का इस्तेमाल कर नीरज पांडे के नाम से नौकरी कर रहा है। अब तक जांच में आरोपी के हाईस्कूल का अंकपत्र संदिग्ध मिला है। जिसके आधार पर विभाग ने आरोपी शिक्षक को निलंबित कर दोनों ही शिक्षकों को सत्यापन के लिए विभाग बुलाया है। विस्तृत जांच के बाद आरोपी शिक्षक को बर्खास्त किया जाएगा।

बड़हलगंज के प्राथमिक विद्यालय में तैनात शिक्षक पर दूसरे के प्रमाणपत्रों के सहारे नौकरी हासिल करने का आरोप लगा है। प्रथम जांच में आरोप सही लग रहे हैं। शिक्षक को निलंबित कर दिया गया है।
*बीएन सिंह, बेसिक शिक्षा अधिकारी*