लखनऊ की वजीरगंज कचहरी में देसी बम से हमला, कई वकील जख्मी

लखनऊ।उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की वजीरगंज कचहरी में एक देसी बम फटने के बाद हड़कंप मच गया। इस घटना में कई वकील घायल हो गए हैं, जिन्हें आननफानन इलाज के लिए नजदीकी अस्पताल भेजा गया है। कोर्ट में 2 जिंदा बम भी मिले हैं। यह घटना सामने आने के बाद प्रशासनिक अमले के होश फाख्ता हो गए हैं। देसी बम से बार एसोसिएशन के एक पदाधिकारी संजीव लोधी पर हमला किया गया था। इस हमले में संजीव बाल-बाल बच गए हैं।

जीतू यादव नाम के व्यक्ति पर धमाका करने का आरोप
इस बीच, वकील संजीव लोधी ने बताया कि उन्होंने कुछ न्यायिक अधिकारियों की उच्चाधिकारियों से शिकायत की थी। इसे लेकर लखनऊ बार एसोसिएशन के महामंत्री जीतू यादव, सुधीर यादव और अन्नू यादव उन्हें शिकायत वापस लेने की धमकी दे रहे थे। लोधी का आरोप है कि गुरुवार को एजाज और आजम तथा करीब 10 अन्य लोग आए और उन पर बम से हमला कर दिया। उनमें से एक बम फटा। बाकी दो नहीं फटे।

वकीलों के दो गुटों में आपसी विवाद के चलते हुआ हमला
वारदात के बाद हमलावर असलहा लहराते हुए भाग गये। उन्होंने बताया कि उनके सात-साथ वकील श्यामसुंदर और प्रमोद लोधी को भी मामूली चोटें आई हैं। लोधी ने मांग की कि दोषियों को जल्द गिरफ्तार किया जाए। बताया जा रहा है कि वकीलों के दो गुटों में आपसी विवाद के चलते ये हमला हुआ है। कोर्ट में चुनाव भी होना है, उसी वजह के कारण रंजिश में ये हमला किया गया।

लखनऊ की एक अदालत में क्रूड बम फेंकने पर बार काउंसिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष मनन मिश्रा ने कहा, ‘मैं इस घटना की कड़ी निंदा करता हूं। दोषियों को जल्द गिरफ्तार किया जाना चाहिए। बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने अधिवक्ता संरक्षण अधिनियम को लागू करने की मांग की है।’