देश में मिसाल बनेगी यूपी की अर्थव्यवस्था: डा. चन्द्रमोहन

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता डा. चन्द्रमोहन ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश को “वन ट्रिलियन इकॉनमी” यानी दस खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था वाला राज्य बनाने की दिशा में प्रयास कर रही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार असल में प्रदेश में एक स्वर्णिम युग के शुरुआत का तानाबाना बुन रही है।

इस प्रकार आने वाले दिनों में उत्तर प्रदेश की अर्थव्यस्था पूरे देश में एक मिसाल बनेगी। इसके लिए प्रदेश की भाजपा सरकार हर प्रयास कर रही है। यूपी को वन ट्रिलियन इकॉनमी बनाने की दिशा में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार सधे कदमों से आगे बढ़ रही है। इसी लक्ष्य को सामने लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने मंत्रियों को लेकर भारतीय प्रबंधन संस्थान (आइआइएम) लखनऊ गए और वहां अर्थव्यवस्था को तेजी से बढ़ाने के गुर सीखे।

यह पहला मौका था जब प्रदेश की उन्नति को ध्यान में रखकर कोई सरकार सीखने और खुद में बदलाव करने की कोशिश कर रही है। इस दिशा में आगे कदम बढ़ाते हुए प्रदेश सरकार ने न केवल विभागीय खर्चों को कम करने की कोशिश की है बल्कि अर्थव्यवस्था में तेजी के लिए एक विस्तृत कार्ययोजना भी बनाई गई है। यूपी की अर्थव्यवस्था को वर्ष 2024 तक 10 खरब की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए प्रदेश सरकार ने प्रतिवर्ष दो लाख करोड़ रुपए से अधिक का अतिरिक्त औद्योगिक निवेश का लक्ष्य रखा है।

इसके लिए प्रतिवर्ष रोजगार के पांच लाख से अधिक अवसरों का सृजन करना होगा। इस दिशा में सरकार ने गंभीरता से प्रयास शुरू भी कर दिया है।अवस्थापना विकास की परियोजनाओं के लिए निजी “इक्विटी फंड” की स्थापना का भी प्रस्ताव है जो कि यह संकेत करता है कि प्रदेश के विकास के लिए  योगी आदित्यनाथ कितनी गंभीरता से प्रयासरत है। यही रास्ता प्रदेश के स्वर्णिम युग की ओर जाता है और प्रदेश की भाजपा सरकार इस तेजी से आगे बढ़ रही है।