WhatsApp में खतरनाक वायरस,आप भी हो जाये सतर्क

नई दिल्ली। टेक कंपनियां यूजर्स की प्रिवेसी के लिए कई हाई-टेक इंतजाम करती हैं। वहीं, साइबर क्रिमिनल्स के लिए इन्हें बाईपास करना और आसान होता दिख रहा है। ऐसा ही कुछ पॉप्युलर इंस्टैंट मेसेजिंग ऐप WhatsApp के साथ हो रहा है। बताया जा रहा है कि वॉट्सऐप में आई एक बड़ी गड़बड़ी के कारण हैकर यूजर्स को डेटा को पूरा ऐक्सेस कर पा रहे हैं। इस हैकिंग के जरिए हैकर्स यूजर्स के फोटो, विडियो और डॉक्यूमेंट्स की चोरी कर सकते हैं। साइबर एक्सपर्ट्स ने दुनियाभर के यूजर्स को इस नए स्कैम से अलर्ट रहने की चेतावनी दी है।

विंडोज और MAC को कर रहा अटैक

वॉट्सऐप में आई इस खामी का पता PerimeterX के साइबर एक्सपर्ट गैल वेजमैन ने लगाया। उन्होंने अपने ब्लॉगपोस्ट में वॉट्सऐप यूजर्स के लिए आए इस नए खतरे के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि हैकर्स एक खास बग (वायरस) के जरिए वॉट्सऐप के डेस्कटॉप वर्जन यूज करने वाले यूजर्स को अपना शिकार बना रहे हैं। यह बग विंडोज के साथ ही Mac ऑपरेटिंग सिस्टम को भी अटैक कर रहा है, लेकिन आईफोन यूजर्स को इससे सबसे ज्यादा खतरा है। इस बग के कारण हैकर यूजर्स को कंप्यूटर में मौजूद सभी फाइल्स को आसानी से ऐक्सेस कर रहे हैं। एक्सपर्ट्स ने यूजर्स को सलाह दी है कि वे फोन में मौजूद वॉट्सऐप ऐप को लेटेस्ट वर्जन से अपडेट कर लें।

फर्जी लिंक से हो रहा खेल

साइबर एक्सपर्ट वेजमैन ने बताया कि हैकर कंप्यूटर में मौजूद प्राइवेट फाइल्स को ऐक्सेस करने के लिए जावा स्क्रिप्ट का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसमें कंप्यूटर्स को फर्जी लिंक्स के जरिए अटैक किया जा रहा है। चिंता की बात यह है कि ये सारे लिंक वॉट्सऐप के अंदर बिल्कुल सही और ऑरिजनल लगते हैं। जैसे ही यूजर इन लिंक्स पर क्लिक करते हैं वैसे ही उनके कंप्यूटर का ऐक्सेस शातिर हैकर्स को मिल जाता है।

वॉट्सऐप ने जारी किया बयान

फेसबुक के ओनरशिप वाली कंपनी वॉट्सऐप का दावा है कि यह ऐप बिल्कुल सेफ है और इसमें यूजर्स के डेटा के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं की जा सकती। वहीं, इस ताजा मामले ने वॉट्सऐप के इन दावों पर सवाल खड़े कर दिए हैं। कंपनी ने प्रवक्ता ने एक बयान जारी कर कहा, ‘हम यूजर्स को खतरनाक हैकर अटैक से बचाने के लिए लगातार सिक्यॉरिटी रिसर्चर्स के संपर्क में रहते हैं। इस बग को दिसंबर को 2019 में ठीक कर दिया गया था।’