एसटीएफ निरीक्षक द्वारा संपादक के घर मे घुसकर दबंगई करने से पत्रकार आहत

 

श्रमजीवी यूनियन गोण्डा के पदाधिकारियों ने एसपी द्वारा पुलिस महानिदेशक को दिया ज्ञापन

डा0 एनके मौर्य / प्रदीप यादव

नया लुक संवाददाता, गोण्डा- पत्रकारों के हितों को लेकर एक तरफ जहाँ योगी सरकार के सियासत दारों द्वारा तमाम कशीदे कसे जा रहे हैं वहीं लखनऊ मे तैनात एसटीएफ टीम के एक निरीक्षक ने गुंडागर्दी पर उतारू होकर क़ानून को ताक पर रखने वाले संबंधी को बढ़ावा देते हुए संपादक के घर मे जाकर खुलेआम कानून का नंगा नाच दिखाया और अभद्रता पूर्वक व्यवहार करते हुए संपादक व उनके पत्नी को डराया धमकाया, जिसे लेकर लखनऊ के साथ साथ गोण्डा के पत्रकारों में भी भारी रोष व्याप्त है, प्रकरण से आहत श्रमजीवी पत्रकार यूनियन गोण्डा के पत्रकारों द्वारा एसपी के सुपुर्दगी मे पुलिस महानिदेशक को ज्ञापन दिया गया है।

बताते चलें कि फायर ब्रांड सीएम द्वारा आये दिन अधिकारियों को कानून के दायरे मे रहकर समस्त पहलूओं पर कार्य करने की सख्त हिदायत दी जाती है, मगर कुछ बेलगाम अधिकारी ऐसे भी हैं जो अपनी हरकत से बाज नही आते और कानून को अपना जागीर समझकर आये दिन उससे खिलवाड़ कर रहे हैं, जिसका जीता जागता उदहारण लखनऊ मे तब देखने को मिला जब एसटीएफ का निरीक्षक रणजीत राय अपने दबंग संबंधी के मनोबल को बढ़ाते हुए पूरे दल बल के साथ दैनिक जनसंदेश के प्रधान संपादक सुभाष राय के घर मे घुसकर उन्हें डराया धमकाया, जिसका पुरजोर विरोध करने पर ही उक्त लोग वहां से हटे, प्रकरण के पीछे छिपा मामला कुछ इस तरह से है, चर्चा के मुताबिक़ प्रधान संपादक दिनांक 1 जून 2018 को अपनी पत्नी के साथ बाहर गए हुए थे, तत्पश्चात दिनांक 8 जून 2018 को जब वह रात्रि 2 बजे घर आये तो उनके घर के सामने कई ट्रक मोरंग गिरे हुए थे, जिससे उनका रास्ता अवरुद्ध हो गया था, उन्होंने जब मोरंग गिरवाने वाले व्यक्ति को यह कहा कि रास्ता अवरुद्ध है इसे हटवा दीजिए तो वह आना कानी करते रहे,और अंत में आमादा फौजदारी हो गए, और तो और क़ानून से खिलवाड़ करने वाले इस व्यक्ति की हिमायती बनकर उक्त एसटीएफ ने कानून को शर्मसार करते हुए बिना सोंचे समझे अपने दल बल के साथ संपादक के घर मे घुसकर दबंगई करते हुए कानून का नंगा नाच खेला,और अभद्र व्यवहार करते हुए उन्हें धमकियाँ भी दी, जिसे लेकर लखनऊ के साथ साथ गोण्डा के पत्रकारों मे भी काफी आक्रोश है, जिसे लेकर आज दिनांक 12 जून 2018 को श्रमजीवी पत्रकार यूनियन गोण्डा के जिला अध्यक्ष श्री कैलाश नाथ वर्मा , के अध्यक्षता मे महामंत्री जानकी शरण द्विवेदी, तेज प्रताप सिंह ब्यूरो  उमानाथ  अंचल श्रीवास्तव व पत्रकार संजय त्रिपाठी एवं अमित सिंह ने एसपी लल्लन सिंह की सुपुर्दगी मे पुलिस महानिदेशक को ज्ञापन सौंपते हुए कानून से खेलने वाले एसटीएफ पर सुसंगित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार करने के साथ साथ संपादक के सुरक्षा हेतु पुलिस मुहैया की मांग की है।

सीएम के चौखट पर खुलेगा घृणित खेल का पिटारा

प्रकरण के सन्दर्भ मे श्रमजीवी पत्रकार युनियन के जिला अध्यक्ष के साथ साथ समस्त पत्रकारों ने यह ठाना है कि अगर शीघ्र ही बेखौफ एसटीएफ पर कार्यवाही न हुई तो पत्रकारों का दल सीएम के चौखट पर जाकर उक्त घृणित कृत्यों का पिटारा खोलेंगे।