नगर आयुक्त के खिलाफ पार्षदों ने किया जमकर हंगामा

रुपेश श्रीवास्तव

अयोध्या। नगर निगम के सभी 60 पार्षदों ने नगर आयुक्त आर एस गुप्ता के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। नगर निगम कार्यालय में सभी पार्षद चाहे विपक्ष हो या पक्ष के सभी पार्षदों ने नगर आयुक्त के खिलाफ जमकर कार्यालय में हंगामा किया और तालाबंदी कर दी। नगर आयुक्त के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और भ्रष्टाचार का आरोप भी लगाया। पार्षदों का आरोप था कि पुराने प्रस्ताव को लटका दिया गया है, जबकि नए प्रस्तावों को हरी झंडी देकर गलत तरीके से टेंडर करा दिया गया।मौके पर पहुंचे नगर आयुक्त आरएस गुप्ता ने पार्षदों की मांगे मानते हुए नए प्रस्ताव के टेंडर को निरस्त कर दिया है।

उस समय अयोध्या नगर निगम कार्यालय में अफरा-तफरी का माहौल हो गया। जब निगम के सभी 60 पार्षद पक्ष विपक्ष मिल कर पार्षदों ने कार्यालय में जमकर हंगामा किया। कार्यालय में ताला बंद कर नगर आयुक्त आर एस गुप्ता पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया।

पार्षदों का आरोप था कि जो पुराने प्रस्ताव पार्षदों ने दिए थे, उनका टेंडर नहीं कराया गया जबकि नई प्रस्ताव का गलत तरीके से टेंडर करा दिया गया। यही नहीं वार्ड के विकास के लिए जो भी प्रस्ताव पार्षद ले जाते हैं उनकी सुनवाई नहीं होती है।

 

वार्डों में सफाई कर्मचारी नियुक्त नहीं हो पा रहे हैं जिसके कारण वादों में सफाई नहीं हो पा रही है। इन सभी कई मांगों को लेकर पार्षदों ने आज निगम कार्यालय में जमकर हंगामा काटा। मौके पर पहुंचे नगर आयुक्त आरएस गुप्ता ने पार्षदों को समझाया और उनकी सभी मांगे मानते हुए नई फाइलों पर हुए टेंडर को निरस्त कर दिया है।

 

यह नया मामला नहीं है सूत्रों की मानें तो महापौर ऋषिकेश उपाध्याय व नगर आयुक्त आरएस गुप्ता के बीच काफी दिनों से 36 का आंकड़ा चल रहा है जिसको लेकर भाजपा पार्षद एकजुट होकर नगर आज के खिलाफ मोर्चा खोलने में लगे थे तभी टेंडर को लेकर विपक्ष के पार्षद भी सामने आ गए और धरने में साथ बैठ गए।

[horizontal_news]