ताज़िया रखने के विवाद को लेकर तनाव

  • ताज़िया रखने के स्थान से चाय की दुकान ना हटाने से बढ़ा विवाद
  • सुरक्षा के दृष्टिकोण से चप्पे चप्पे पर तैनात किए गए सुरक्षाकर्मी

अरुण वर्मा
नया लुक, महराजगंज। महराजगंज जनपद के चौक बाज़ार थाना क्षेत्र के खजुरिया गांव में ताजिया को रखने को लेकर दो समुदाय के बीच तनाव की स्थिति बनी हुई है। जिसकी गम्भीरता को देखते हुए सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए है। ताजिया आयोजकों का कहना है कि जिस स्थान पर विगत के वर्षो में ताजिया रखा गया था वहीं किसी के द्वारा झोपड़ी रख दी गई है। जिसे हटाये बिना ताज़िया नही रखा जा सकता है। जिसको लेकर ग्रामसभा खजुरिया में वृहस्पतिवार को ताजिया रखने को लेकर दो सम्प्रदायो में घमासान होने की नौबत आ गयी थी। लेकिन पहले से तैयार पुलिसकर्मियों ने मौके पर पहुंचकर स्थिति को काबू में किया। मौके पर पहुचे सदर एस डी एम सत्यम मिश्रा, सीओ निचलौल रणविजय सिंह, थानाध्यक्ष अवधेश नरायन तिवारी ने दोनो समुदायों के लोगों को समझा बुझा कर स्थिति को काबू कर दोनो समुदाय के मैनुद्दीन, रामरक्षा, रोगी, सहुआल, अकबर, योगेंद्र, सूरज ग्राम प्रधान पति शेषमणि पटेल समेत कुल 25 लोगो को पाबंद किया गया। बताया जाता है कि विवादित स्थल पर रामरक्षा पुत्र लालमन की झोपड़ी है। जिसमे चाय की दुकान है। झोपड़ी को हटा ताजिया रखने के लिए मुस्लिम समुदाय के लोग रामरक्षा पर दबाव बनाने लगे। इस बात का इनकार करने पर मुस्लिम समुदाय के लोग मारपीट पर उतारू हो गए। जिसकी सूचना रामरक्षा ने चौक बाज़ार थाने में दी। दोनो सम्प्रदाय में मारपीट न हो जाय इसके लिए भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया। थानाध्यक्ष अवधेश नरायन तिवारी ने बताया कि स्थिति सामान्य है। विवादित झोपड़ी को नही हटाया जाएगा। ताजिया खाली भूमि व सड़क के किनारे रखा जाएगा। यदि इस नियम विरुद्ध किसी के द्वारा किसी भी तरह का विवाद किया जाता है तो उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाई किया जाएगा।
सदर एस डी एम सत्यम मिश्रा ने ने राजस्व निरीक्षक जनक राज व हल्के के लेखपाल सुनील कुमार को जमीन की पैमाइस की बात कही। राजस्व निरीक्षक व लेखपाल ने विवादित मौके की जमीन का पैमाइस व नक्शे से मिलान किया गया तो डीह की जमीन की बात सामने उभर कर आयी। उस जमीन के पीछे रामरक्षा के नम्बर की जमीन को बताया गया। लेखपाल सुनील कुमार ने बताया कि डीह की जमीन का नापी नही किया जा सकता।