आतंकी हमले पर खुफिया एजेंसी प्रमुख ने दिया इस्तीफा

कोलंबो। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज श्रीलंका की यात्रा पर गए है। जिसके लिए पीएम मोदी मालदीव से श्रीलंका के लिए रवाना हो गए हैं। हाल ही में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों के बाद किसी भी विदेशी राष्ट्राध्यक्ष का यह पहला श्रीलंका दौरा है। इस बीच श्रीलंका में ईस्टर के दिन हुए सिलसिलेवार आतंकी हमले की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए श्रीलंका के राष्ट्रीय खुफिया एजेंसी प्रमुख सिसिरा मेंडिस ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

श्रीलंका में हुए इस आतंकी हमले में करीब 250 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी।पिछले हफ्ते ही संसद की सेलेक्ट कमिटी को संबोधित करते हुए सिसिरा मेंडिस ने खुलासा किया था कि राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरिसेना सिक्योरिटी रिव्यू मीटिंग भी अक्सर नहीं लिया करते थे।

इससे पहले शुक्रवार को राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरिसेना ने कैबिनेट की एक आपातकालीन बैठक बुलाई थी। कैबिनेट मीटिंग में राष्ट्रपति सिरिसेना ने कहा, ‘मैं इसके सख्त खिलाफ हूं कि वरिष्ठ खुफिया अधिकारियों से संसद में खुले में पूछताछ की जाए, इससे राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ी कई खुफिया जानकारियां सामने आ जाती है’। बताया जा रहा है कि राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरिसेना, मेंडिस को बचाए जाने के खिलाफ थे। कहा तो यह भी जा रहा है कि राष्ट्रपति सिरिसेना ने श्रीलंका के राष्ट्रीय खुफिया प्रमुख सिसिरा मेंडिस को बर्खास्त किया है। लेकिन रक्षा सचिव शांता कोट्टेगोडा ने साफ कर दिया है कि मेंडिस ने अपना इस्तीफा दिया है।

क्या था मामला

21 अप्रैल को श्रीलंका सिलसिलेवार बम धमाकों से उस वक्त दहल उठा था, जब लोग ईस्टर मना रहे थे। चर्च धमाकों से उड़ गए और कई होटलों में भी धमाके का असर दिखा। इस आतंकी घटना में करीब 250 से अधिक लोग मारे गए और 500 से ज्यादा लोग घायल हुए थे।

श्रीलंका के स्थानीय आतंकी संगठन, नेशनल तौहीद जमात ने आतंकी हमलों की जिम्मेदारी ली थी। इस आतंकी संगठन का संबंध आइएसआइएस से है। आतंकी हमले से पहले भारतीय खुफिया एजेंसियों ने श्रीलंका को कई बार सतर्क भी किया था की वहां आतंकी हमले हो सकते हैं। लेकिन श्रीलंका के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री दोनों ने इस जानकारी से इनकार कर दिया।